18 वीं राज्य स्तरीय शालेय खेल स्पर्द्धा का हुआ आगाज. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष कौशिक ने किया उद्घाटन

बिलासपुर-बिलासपुर में आयोजित 18वीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता का उद्घाटन आज पुलिस ग्राउण्ड में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि धान के कटोरे के रूप में पहचान बनाने वाला छत्तीसगढ़ आने वाले समय में खेल के क्षेत्र में भी विशिष्ट पहचान बनायेगा। राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता में बेसबाल बालक/बालिका 19 वर्ष, कबड्डी बालक/बालिका 17 वर्ष, नेटबाल बालक/बालिका 14 वर्ष, हैण्डबाल बालक/बालिका 14 वर्ष, तीरंदाजी बालक/बालिका 14, 17, 19 वर्ष, तीरंदाजी (कम्पाउण्ड) 14, 17, 19 वर्ष, फील्ड आर्चरी बालक/बालिका 19 वर्ष आयुवर्ग की प्रतियोगिताएं होंगी। जिसमें राज्य के 12 जोन बिलासपुर, रायपुर, बस्तर, सरगुजा, राजनांदगांव, जशपुर, कबीरधाम, कांकेर, दुर्ग, कोरिया, जांजगीर-चांपा और कोण्डागांव के लगभग 1660 खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। जिनमें 850 बालक और 810 बालिकाएं शामिल हैं।

उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि कौशिक ने खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहा कि जीवन में आगे बढ़ने के लिये शिक्षा के साथ-साथ खेल भी आवश्यक है। अनुशासन, संयम, नियम, मानसिक उत्साह हमें खेलों से मिलता है, जो जीवन भर काम आता है। उन्होंने वर्तमान में हो रहे एशियाड खेल में भारत के प्रदर्शन का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार की नीतियों के कारण हमारे खिलाड़ियांे को प्रोत्साहन मिला है।

इसके परिणामस्वरूप खिलाड़ी उत्कृष्ट खेल प्रदर्शन कर हर दिन गोल्ड मेडल जीत रहे हैं। छत्तीसगढ़ में भी खेल के क्षेत्र में असीम संभावनाएं है। राज्य स्तर पर जो खेल नीति बनाई गई है उससे खिलाड़ी आगे बढ़ रहे है और खेल के क्षेत्र में वातावरण का निर्माण हो रहा है। राज्य में मिनी स्टेडियम से लेकर इंडोर स्टेडियम, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, एस्ट्रोटर्फ हाॅकी मैदान का निर्माण कर खिलाड़ियों को खेल के सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। श्री कौशिक ने सभी खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दी कि वे अपने खेलों का उत्कृष्ट प्रदर्शन करें।

कार्यक्रम की अध्यक्षता संसदीय सचिव एवं तखतपुर विधायक राजू सिंह क्षत्री ने की उन्होंने खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि जीवन में खेल उतना ही जरूरी है जितना जीने के लिये सांस जरूरी है। जीवन की चुनौतियांे का सामना करने का साहस खेल से मिलता है। हमें खेल को गंभीरता से लेना होगा और एक लक्ष्य लेकर खेल में आगे बढ़ना होगा। विशिष्ट अतिथि भूपेन्द्र सवन्नी ने कहा कि प्रतियोगिता के माध्यम से खिलाड़ी बेहतर खेल का प्रदर्शन करेंगे और सामाजिक समरसता को बढ़ावा देंगे। कार्यक्रम में स्वागत उद्बोधन जिला शिक्षा अधिकारी हेमंत उपाध्याय ने दिया। उन्होंने प्रतियोगिता के संबंमध में विस्तृत प्रतिवेदन दिया और बताया कि इस प्रतियोगिता में चयनित खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में भाग लेंगे।इस अवसर पर बच्चों ने आकर्षक मार्च पास्ट की प्रस्तुति देकर समां बांध दिया।कार्यक्रम मे जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक साहू, अपर कलेक्टर आलोक पांडे सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *